THE UNSUNG PHILANTHROPIST OF INDIA, HAJI MAHOMMED MOHSIN

  Haji Mahommed Mohsin, a philanthropist, with scholarly zeal and a heart so big it could feed the entire town’s

Read more

जब मुज़फ़्फ़रपुर में एक युरोपियन क्लब के मुक़ाबले में खुला मुस्लिम क्लब

युरोपियन लोगों ने बिहार के मुज़फ़्फ़रपुर में एक युरोपियन क्लब 1885 में क़ायम किया, जिसमें किसी भी भारतीय का दाख़िल

Read more

प्रोफ़ेसर असलम आज़ाद ~ महद से लहद तक

  असलम आज़ाद का जन्म बिहार के सीतामढ़ी ज़िला के मौलानगर में 12 दिसंबर 1946 को हुआ था। वालिद का

Read more

अंजुमन ख़ुद्दाम ए तिब, 1927 में पटना के तिब्बी कॉलेज में बना छात्रों का संगठन

भारत में पहला सरकारी यूनानी कॉलेज पटना में एक लम्बे आंदोलन के बाद गवर्न्मेंट तिब्बी कॉलेज, पटना के रूप में

Read more

सर मुहम्मद फ़ख़्रुद्दीन, बिहार का सबसे बड़ा नायक

पटना युनिवर्सिटी को वजुद मे लाने मे अपना अहम रोल अदा करने वाले सर मुहम्मद फ़ख़्रुद्दीन ने 1921 से 1933

Read more

संस्कृत भाषा जिसपर हम गर्व करते हैं, की खोज विदेशियों ने ही की- चाहे वे इंग्लैण्ड के हों या जर्मनी के।

  आज हम जिस संस्कृत भाषा और साहित्य की प्राचीनता पर गर्व करते हैं, उसकी खोज विदेशियों ने ही की-

Read more

रामपुर रज़ा लाइब्रेरी के पहले डायरेक्टर, मौलाना इम्तियाज़ अली खां अरशी

  साजिदा शेरवानी रामपुर रज़ा लाइब्रेरी के पहले डायरेक्टर मौलाना अरशी साहब के व्यक्तित्व की पहचान कराने की आवश्यकता नहीं।

Read more

प्रोफ़ेसर क़ासिम अहसन वारसी, शिक्षा के लिए जीवन वक़्फ़ कर देने वाला इंसान

प्रोफ़ेसर क़ासिम अहसन वारसी की पैदाइश बिहार के अरवल ज़िला के इमामगंज में 10 नवम्बर 1933 को हुआ था। वालिद

Read more

भारत की जंग ए आज़ादी और हिन्दु-मुस्लिम एकता में इमारत-ए-शरिया बिहार का योगदान!

नज़रबंदी के दौरान 1917 में मौलाना अबुल कलाम आज़ाद नें रांची शहर में एक तालीमी एदारा क़ायम किया था, जिसे

Read more

भारत का सबसे पहला सरकारी यूनानी मेडिकल कॉलेज, क्या आप इसे जानते हैं?

पटना का तिब्बी कॉलेज भारतीय उपमहाद्वीप का सबसे पहला सरकारी यूनानी मेडिकल कॉलेज है. 29 जुलाई 1926 को गवर्मेंट तिब्बी

Read more

डॉक्टर ज़ाकिर हुसैन, 20वीं सदी का सबसे बड़ा नायक

  डॉक्टर ज़ाकिर हुसैन, भारत के एक ऐसा अज़ीम शख़्स का नाम है, जिसने अपना पूरा जीवन तालीम के लिए

Read more

बिहार में दर्जनों आधुनिक शिक्षण संस्थान खोलने वाले सैयद विलायत अली ख़ान

  नवाब बहादुर सैयद विलायत अली ख़ान का जन्म 23 सितम्बर 1818 को पटना के एक बड़े बैंकर ख़ानदान में

Read more

सैयद हसन, जिन्होंने बिहार के पिछड़ों को पढ़ाने के लिए अपना जीवन वक़्फ़ कर दिया।

सैयद भाई का असल नाम सैयद हसन था, जिनका जन्म 30 सितंबर 1924 बिहार के जहानाबाद के काको में हुआ

Read more

फ़ातिमा शेख़ ~ लड़कियों के लिए स्कूल खोलने वाली पहली भारतीय महिला

मुम्बई प्रेसीडेंसी में लड़कियों के स्कूल 1827 से हैं, पर अधिकतर मिशनरियों के थे, आम हिंदुस्तानी जिसमें हिंदू और मुसलमान

Read more
Translate »